प्रधानमंत्री के सभा के खिलाफ तृणमूल कांग्रेस के पल्टा सभा

 

उत्तर 24 परगना जिला तृणमूल कांग्रेस ने ठाकुरनगर में 2 फरवरी को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सभा के खिलाफ चौथें दिन बुधवार को ठाकुरनगर हाई स्कूल मैदान में पल्टा सभा किया। जिसमें बोलते हुए तृणमूल कांग्रेस के ज्योतिप्रिय मल्लिक, मदन मित्रा, अर्जुन सिंह, फिरहाद हाकिम ने केंद्र की भाजपा सरकार व प्रधानमंत्री मोदी पर जम कर जुबानी हमला किया।

कोलकाता के मेयर और मंत्री फिरहाद हाकिम ने कहा कि मोदी अपनी बिदाई के डर से अंदर ही अंदर कांप रहे है, सत्ता में आने के लिए वह बिभाजन की राजनीति अपनाये है। मोदी सरकार के खिलाफ मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व में यूनाइटेड इंडिया का गठन हुआ है, भाजपा ने भांप लिया है कि इस बार की लोकसभा चुनाव में उनकी बिदाई तय है। उन्होंने सोचा है कि बड़ी मां बिनापाणी देवी का पैर स्पर्श करने से उन्हें मतुआ वोट मिल जायेगा, पर वह गलत है।  वह आरोप लगाये कि भाजपा और सीबीआई के बीच समझौता हुआ है सीबीआई अब निर्पेक्ष नही रही। उसके अनुसार तृणमूल के नेताओं को झूठे मामला में फंसा जा रहा है। शारदा चिटफंड के प्रधान सुदीप्त सेन के संग मंच साझा करने के कारण तृणमूल के मंत्री मदन मित्रा को सीबीआई ने गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। लेकिन उसी व्यक्ति के संग मंच साझा करने वाले मुकुल राय और  बाबलू सुप्रियो के खिलाफ  सीबीआई कोई कार्यवाई नही की, असम के स्वास्थ्य मंत्री हेमंत विश्व शर्मा पर लगे आरोप के खिलाफ भी वह चुप रहे।  सभा मंच का संचालन कर रहे उत्तर 24 परगना जिला तृणमूल के चेयरमैन तथा खाद्यमंत्री ज्योतिप्रिय मल्लिक ने कहा कि राजनीतिक लाभ के लिए चुनाव के समय प्रधानमंत्री को बड़ी मां की याद आई है। बड़ी मां बिनापाणी देवी और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बीच मां-बेटी का रिस्ता है, यह रिस्ता 21 साल से चल रहा है। प्रधानमंत्री के ठाकुरनगर पहुंचने अथवा बड़ी मां का आर्शिवाद लेने से वह रिस्ता प्रभावित होने वाला नही है